Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी

Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी
March 9, 2019 No Comments Quotes-Shayari jioadam

Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी

दोस्तों आज के समय में लगभग सभी लोग चाहे वह लड़का हो या लड़की या फिर शादीशुदा हो या अकेले। आज के समय में सभी लोग प्यार करना चाहते हैं और प्यार पाना चाहते हैं। सभी लोग किसी ना किसी के प्रति आकर्षित होते ही है और वह चाहते भी है कि उनकी पूरी जिन्दगी उन्ही के साथ बीते, मन ही मन वह ना जाने कितने तरह के ख्याल बुनने लगते हैं जिसके बारे में हम सोच भी नहीं सकते।

 

प्यार में एक अजीब सी ताकत होती है जो कुछ भी करवा सकती हैं। प्यार एक खूबसूरत एहसास है जो लगभग सभी महसूस करते हैं या फिर कर चुके हैं। आइए मैं आज आपको एक Abhinandan Love stories in hindi सुनाती हूँ जो शायद आपको अच्छी लगे।

 

Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी

Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी

प्यार इस दुनिया का सबसे खूबसूरत और सुखद अनुभव है, सिर्फ इसके एहसास से शरीर ही नहीं बल्कि आत्मा का रोम रोम रोमांचित हो जाता है। अपने प्यार को पाने के लिए लोग कुछ भी कर सकते हैं।
ढाई अक्षर में सिमटे इस प्रेम के आगे सारी दुनिया की दौलत फीकी है लेकिन ये अनमोल प्यार हर किसी के हिस्से में नहीं आता। प्यार तो बस किस्मत वालों को ही नसीब होता है। प्यार में इतनी ताकत है कि यह मुश्किल से मुश्किल राह को भी आसान बना देता है।
राधा-कृष्ण, हीर-रांझा, रोमियो-जूलिएट की प्रेम कहानी ने ही इन्हे अमर कर दिया जिन्हे दुनिया आज भी याद करती है और आगे भी करेगी ही।
हम आज आपको बताने जा रहे हैं अभिनन्दन और दीक्षा की सच्ची प्रेम कहानी जो यह साबित किया हैं कि प्यार के लिए धन दौलत की जरूरत नहीं होती। सिर्फ एक ही चीज चाहिए प्यार करने के लिए। वो क्या है हम जानेंगे इस कहानी के जरिए।

Abhinandan Love Story in Hindi-अभिनंदन लव स्टोरी

Latest Very sad love story Hindi -Hamari Adhuri Kahani

मुंबई का रहने वाला अभिनंदन पेशे से एक ग्राफिक्स डिज़ाइनर है। पुरानी नौकरी में इस्तीफा देने के बाद अभिनंदन एक नए फ़र्म में इंटरव्यू देने के लिए पहुँचा। जैसे ही अभिनंदन इंटरव्यू देने के लिए HR manager के कैबिन में दाखिल हुआ वैसे ही उसने देखा कि एक महिला अपने लैपटॉप में नजरें गड़ाए हुए बैठी थी।
उसने इशारे से अभिनंदन को बैठने के लिए कहा। अभिनंदन सामने की कुर्सी पर बैठ गया और उस महिला ने लैपटॉप से नजरें हटाते हुए अभिनंदन की तरफ देखा। अभिनंदन की नजरें जैसे ही उस महिला से मिली, वो बस एक टके उसे देखता रहा क्यूंकि वह बहुत सुन्दर थी।
तभी उस महिला ने कहा कि मेरा नाम दीक्षा और मै यहाँ की HR मैनेजर हूँ। जिसका जवाब देते हुए अभिनंदन ने कहा कि मेरा नाम अभिनंदन है और मै यहां ग्राफिक्स डिज़ाइनर के पोस्ट के लिए इंटरव्यू देने आया हूँ। 

Alsolike:cute love story hindi 

दीक्षा अभिनंदन का biodata देखते हुए कहती हैं कि आपके पास काम का तो काफी अनुभव है लेकिन फिलहाल हमारे पास junior post के लिए vacancy खाली है जो आपके अनुभव के मुताबिक आपके लिए perfect नहीं है।
लेकिन अभिनंदन तो पहली नजर में ही दीक्षा को दिल दे बैठा था। वह मन ही मन सोचने लगा कि दीक्षा के आसपास रहने के लिए मुझे इस ऑफिस में काम करना बेहद जरूरी है। कुछ देर तक सोचने के बाद उसने कहा कि मैं इस junior post पर काम करने के लिए तैयार हूँ, मुझे इस नौकरी की सख्त जरूरत है।
अभिनंदन की बातों को सुनकर दीक्षा ने कहा कि अच्छे से सोच समझकर अपना फैसला बताना। अभिनंदन को तो हर हाल में ये नौकरी चाहिए थी यहाँ तक कि उसने यह भी पूछ लिया कि क्या मैं कल से ही आ सकता हूं? दीक्षा ने कहा कि हां ठीक है आप कल से काम पर आ सकते हैं।

Romantic love story in hindi

घर पहुँचने के बाद अभिनंदन पूरी रात नहीं सो सका, हर वक़्त दीक्षा का चेहरा उसकी आँखों के सामने घूम रहा था। अगले दिन अभिनंदन वक़्त से पहले ही ऑफिस पहुँच गया और अपने काम के मोर्चे पर जुट गया। उसे काफी अनुभव होने की वजह से काम को समझने में कोई दिक्कत या परेशानी नहीं हुई। 
दीक्षा अभिनंदन के पास आई और पूछा कि काम कैसा चल रहा है? अभिनंदन ने जवाब देते हुए कहा कि काम एकदम बढ़िया चल रहा है। अभिनंदन अब हर रोज कोई ना कोई बहाना बनाता दीक्षा को देखने के लिए।

pyar ki ek kahani short love story in hindi

अभी कुछ दिन बीते ही थे कि एक दिन दीक्षा कुछ काम को समझाने के लिए अभिनंदन के पास पहुँची। दीक्षा अपने लैपटॉप में कुछ समझा ही रही थी कि अभिनंदन अपने दिल की बात को जुबान पर आने से नहीं रोक सका। अभिनंदन ने बहुत ही धीमे स्वर में दीक्षा से कहा कि मैं बहुत दिनों से आपसे कुछ कहना चाहता हूँ। दीक्षा ने कहा कि जल्दी बोलो मेरे पास ज्यादा समय नहीं है। 
अभिनंदन ने कहा कि जब मैंने आपको पहली बार देखा तभी से आपको चाहने लगा हूँ, सोते जागते हर वक़्त आपका चेहरा नजर आता है क्या आप मुझसे शादी करेंगी?
अभिनंदन की बातें सुनते ही दीक्षा का चेहरा गुस्से से लाल हो गया। उसने फौरन अभिनंदन का हाथ पकड़ा और वहाँ ले गयी जहाँ ऑफिस के सभी कर्मचारी बैठे थे।
दीक्षा अभिनंदन से कहने लगी कि अकेले में तो तुम्हें अपनी मोहब्बत का इजहार करने में जरा भी डर नहीं लगा। अब हिम्मत है तो सबके सामने अपनी मोहब्बत का इजहार करो।
ladke ko propose kaise kare hindi
अभिनंदन ने फिर सबके सामने अपने दिल के जज्बातों को इजहार किया, यह सुनकर सब हैरत से अभिनंदन की तरफ देखने लगे। मगर दीक्षा के गुस्से का पारा और चढ़ गया और उसने अभिनंदन के कॉलर को पकड़ते हुए कहा कि यहाँ से चले जाओ और दोबारा अपनी शक्ल मत दिखाना।
अभिनंदन बाहर जाने के लिए दरवाजे की ओर बढ़ने लगा यह सोचकर कि यह आखिरी मौका है फिर मैं कभी दीक्षा को देख तक नहीं पाऊंगा। तभी दरवाजे के पास पहुँचने के बाद अभिनंदन फिर पलट कर दीक्षा से कहने लगा कि एक बार फिर सोच लो अगर आज मैं इस दरवाजे से चला गया तो फिर कभी लौटकर नहीं आऊँगा। लेकिन मैं तुम्हें हमेशा प्यार करता रहूँगा, तुम मानो या ना मानो।
दीक्षा के दिल में अजीब सी हलचल मची हुई थी उसने अभिनंदन को रोका और दरवाजे के पास पहुँची। उसने कहा कि प्यार करने वाले मुझे बहुत सारे मिल जाएंगे मगर तुम जैसा शायद ही कोई मिले जो सारी दुनिया के सामने अपने प्यार का इजहार करे क्यूंकि प्यार करने के लिए जो सबसे जरूरी है वह सिर्फ तुम्हारे पास है और वह है तुम्हारी हिम्मत। 
दीक्षा की आँखें खुशी से भर आई और उसने सबके सामने अभिनंदन को गले लगा लिया और उसे अपनी बाहों में भर लिया। अभिनंदन से प्यार का इजहार करने के बाद दीक्षा के चेहरे पर थोड़ी मायूसी छा गयी।

अभिनंदन ने पूछा कि क्या हुआ? दीक्षा ने जवाब देते हुए कहा कि भले ही हम 21वी सदी में जी रहे हैं लेकिन आज भी हमारा समाज और परिवार हम जैसे लोगों को हीन भावना से देखता है। दोनों के घर वाले राजी होंगे या नहीं, पैसा, जात पात, कुण्डली के ना मिलने जैसी ना जाने कितनी सारी परेशानियाँ हमारे प्यार के रास्ते में मुश्किलें पैदा कर सकती है। 
प्यार करने के लिए बहुत कुछ करना पड़ता है और बहुत कुछ सहना पड़ता है। अब तुम्ही बताओ हम अपने प्यार को शादी के मुकाम तक पहुँचाने के लिए इन परेशानीयों का सामना कैसे करेंगे?

अभिनंदन ने कहा कि जब तक मैं तुम्हारे साथ हूँ तो तुम्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है। हम दोनों साथ मिलकर इन परेशानीयों का हिम्मत से सामना करेंगे और हमारा हिम्मत ही हमें हमारी मंजिल तक पहुंचाएगा।
दोनों ने आगे चल कर शादी कर ली और सारी परेशानियों का डट कर सामने किया और अभी दोनों साथ में बहुत खुशहाल जिन्दगी व्यतीत कर रहे हैं और उनके परिवार वालों ने भी उन्हे अपना लिया है। 

इस Abhinandan  love stories in hindi से सीख
अभिनंदन और दीक्षा की प्रेम कहानी से यह सीख मिलती है कि दुनिया में प्यार उसीको मिलता है जिसके पास हिम्मत होती है। अपने प्यार का भरी महफिल में इजहार करने की और अपने प्यार को पाने के लिए दुनिया से लड़ जाने की।प्यार में इतनी ताकत होती है जिसका अंदाजा लगाना मुश्किल होता है, इसके लिए कोई भी पूरी दुनिया से अकेले लड़ जाए। 
दोस्तों यह एक सच्ची कहानी थी जो कि मुंगेर जिले की एक factory की कहानी थी बस इस कहानी में दोनों का नाम बदल दिया गया है और बाकी सभी चीजें एक ही है।
आशा करती हूँ कि आपको यह Love stories in hindi आपको पसंद आई हो। इस तरह की love stories in hindi पढ़ने के लिए हमारे वेबसाइट से जुड़े रहे। 
Tags
About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *